15 Broken Heart Shayari: अपनी भावनाओं का इजहार

One of its most moving themes is that of a broken heart, a topic that all those who have gone through the turbulent process of falling in love, losing someone they love, and finding healing can relate to. In this piece, we examine the meaning of “broken heart shayari,” delving into its profound verses that convey the intensity of suffering, the need for resolution, and the ultimate route to recovery.

Broken Heart Shayari- 1

अंधेरे से कह दो बचपन बीत चुका है,

अब तुझसे डर नही सुकून मिलता है…!

Andhere se kehdo bachpan beet chuka hai, 

ab tujhse dar nahi sukoon milata hai…!

Broken Heart Shayari 2

हर तरफ ढूंढा उसे,

अब तो कदमों ने भी हार मान लिया।

Har taraf dhundha use,

Ab to kadmo ne bhi haar maan liya.

Broken Heart Shayari- 3

मौत से पहले भी एक मौत होती है,

जरा अपने यार से बिछड़कर तो देखो…!

Maut se pehle bhi ek mout hoti hai, 

jara apne yaar se bichhadkar to dekho…!

Broken Heart Shayari- 4

कही तो होगी वो ज़िन्दगी,

जहां तुम मेरे साथ हो।

Kahi to hogi wo zindagi,

Jaha tum mere sath ho.

Broken Heart Shayari- 5

इश्क की आखिरी नसल हैं हम,

हमारे बाद जिस्मों की भूख होगी…!

Ishq ki aakhir nasal hain ham, 

hamare baad jism ki bhookh hogi…!

Broken Heart Shayari- 6

जल्द महसूस होगा तुम्हे,

कि मेरा होना क्या था

और मेरा ना होना क्या है।

Jald mehsoos hoga tumhe,

Ki mera hona kya ha

Aur mera na hona kya hai.

Shayari- 7

मेरी मोहब्बत भी बादलों की तरह निकली,

छाई मुझपर और बरस किसी और पर गई…!

Meri mohabbat bhi baadalon ki tarah nikali, 

chhai mujhpar aur baras kisi aur pr gyi

Shayari- 8

ए-दिल थोड़ी सी हिम्मत कर ना यार,

दोनों मिलकर उसे भूल जाते है।

Ae-dil thodi si himmat kar na yaar,

Dono milkar use bhool jate hai.

Shayari- 9

मेरे पास ही था उनके जख्मों का मरहम पर,

बड़े शहर में छोटी दुकानें कहा दिखाई देती है…!

Mere paas hi tha unke jakhmon ka marham par, 

bade shehar mein chhoti dukane kaha dikhai deti hai…!

Shayari- 10

अब दर्द होता है तो दवा खा लेता हूँ,

लोंगो ने मरहम के नाम पर सिर्फ घाव ही दिए है।

Ab dard hota hai to dawa kha leta hu,

Logo ne marham ke naam par sirf ghav hi diye hai.

Shayari- 11

वो मुझसे बिछड़कर अबतक रोया नहीं यारो,

कोई तो है हमदर्द जो उसे रोने नही देता…!

Vo mujhse bichhadkar abtak roya nahi yaaro, 

koi to hai hamdard jo use rone nahi deta…!

Shayari- 12

मैं नासमझ सही पर वो तारा हूँ जो,

तेरी एक ख्वाहिश के लिए सौ बार टूट जाऊ।

Main nashmjh sahi par wo tara hu jo,

Teri ek khwahish ke liye sau baar toot jau.

Shayari- 13

फुर्सत में याद करना हो तो मत करना,

हम तन्हा जरूर हैं मगर फिजूल नही…!

Fursat mein yaad karna ho to mat karna, 

hum tanha jarur hai magar phijool nahi…!

Shayari- 14

दो शब्दों में सिमटी है मेरी मोहब्बत की दास्तान,

उसे टूट कर चाहा और चाह कर टूट गए।

2 shabdo me simti hai meri mohabbat ki dastan,

Use toot kar chaha aur chah kar toot gaye.

Shayari- 15

ज़रा-सा बात करने का

तरीका सीख लो तुम भी,

उधर तुम बात करते हो

दिल यहाँ टूट जाता है।

Zara-sa baat karne ka

Tarike seekh lo tum bhi,

Udhar tum baat karte ho

Dil yaha toot jata hai.

Conclusion

Broken Heart Shayari is a moving illustration of the human experience of love, grief, and resiliency. Its beautifully written and emotionally charged verses reflect the turbulent path of a broken heart by expressing loss, longing, and, in the end, the way to recovery and rejuvenation. In its profound simplicity, Shayari encapsulates human emotions, offering comfort and comprehension to individuals navigating the intricate terrain of a broken heart.

Bewafa Shayari

Leave a Comment